उत्तर प्रदेश: पुलिसकर्मी का अमानवीय चेहरा, दिव्यांग युवक को पीटा फिर थाने में लाकर जमीन पर गिरा दिया

 

हमेशा सुर्खियों में रहने वाली उत्तर प्रदेश पुलिस का एक बार फिर से अमानवीय चेहरा सामने आया है। कन्नौज के सौरिख थाना क्षेत्र में एक पुलिसकर्मी द्वारा दिव्यांग युवक की पिटाई किए जाने का मामला सामने आया है। इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है, जो अब सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। पीड़ित दिव्यांग ने जब रो-रोकर सिपाही की बर्बरता की दास्तां बताई तो सुनने वालों के दिल पसीज गए।

उत्तर प्रदेश

वायरल वीडियो में नजर आ रहा है कि एक पुलिस वाला दिव्यांग युवक का हाथ पकड़कर कर उसे थाने में लाता है और फिर अचानक उसे धक्का देकर जमीन पर गिरा देता है। इस दौरान थान में अन्य पुलिसकर्मी भी मौजूद हैं। बताया जा रहा है कि यह मामला कन्नौज के सौरिख के सदर बाजार का है। पीड़ित युवक का नाम दलबीर सिंह बताया जा रहा है। पीड़ित युवक का आऱोप है कि वो अपनी गर्भवती पत्नी राधा एवं मौसेरी बहन पूजा के साथ ई-रिक्शा से अस्पताल जा रहा था। इस दौरान किसी कार्य के लिए उसने रास्ते में रिक्शा रोक दिया। वहां खड़े एक सिपाही ने उससे बाहर रिक्शा खड़ा करने के लिए मना किया।

पीड़ित का आरोप है कि अचानक सिपाही उनसे गाली गलौज करने लगा। जब उन्होंने सिपाही को गाली देने से मना किया तो सिपाही सड़क पर ही उन्हें मारने-पीटने लगा। इस मारपीट में उसको चोट भी आई। इसके बाद भी सिपाही ने पीटना बंद नहीं किया और गर्भवती पत्नी सिपाही से मिन्नत करने लगी तो लोगों की भीड़ लग गई। इसपर सिपाही सड़क पर घसीटते हुए उसे थाने ले गया। वीडियो में नजर आ रहा है कि यह युवक थाने में चीख-चीख कर पुलिसवाले के जुल्म के बारे में बता रहा है। युवक कहता है कि पुलिसवाले ने उसे पीटा जिसकी वजह से उसे खून निकल आया और उसके कपड़े फट गए। दिव्यांग युवक कहता है कि कान पर मारे जाने की वजह से उसे कम सुनाई दे रहा है।

पीड़ित युवक कहता है कि उसने कोई चोरी नहीं कि या उसके पास कोई हथियार भी नहीं है, वो आगे कहता है कि मैं मेहनत से कमाता हूं और कोई गलत काम नहीं करता तो फिर मेरे साथ ऐसा व्यवहार क्यों। युवक की गर्भवती पत्नी भी थाने में पुलिसवालों के पास घूम-घूम कर अपने पति की बेगुनाही की बात करती नजर आ रही है।

प्रभारी निरीक्षक विजय बहादुर वर्मा ने बताया कि सिपाही व दिव्यांग दोनों को मेडिकल परीक्षण के लिए अस्पताल भेजा जा रहा है। जांच में सिपाही दोषी पाया गया, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

 

बता दें कि, यह कोई पहली बार नही है कि यूपी के किसी पुलिसकर्मी का अमानवीय वीडियो वायरल हुआ हो। इससे पहले लखनऊ में पुलिसकर्मी ने एक बुजुर्ग रिक्शाचालक को बेरहमी से पिटाई कर दी इतना ही नहीं उसने उसे काफी दूर तक घसीटते हुए भी ले गया था। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद आला अधि‍कारि‍यों ने आरोपी पुलि‍सकर्मी को सस्पेंड कर दि‍या.

 Courtesy:  Janta ka Reporter 

0 comments

Leave a Reply